लेख

फ्लाई ऐश रेगुलेशन, 1999 में प्रस्तावित संशोधनों के संभावित प्रभाव भाग 1: क्या देश में ईंट की मांग को पूरा करने के लिए उपलब्ध फ्लाई ऐश की मात्रा पर्याप्त है?

पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय (MoEFCC) ने एक अधिसूचना दिनांक 25 फरवरी 2019 द्वारा देश में फ्लाई ऐश के उपयोग को बढ़ावा देने के लिये मौजूदा नियमन (का.आ.763 (अ) दिनांक 14 सितम्बर 1999) में संशोधन का प्रस्ताव किया है। यह एक श्रृंखला का पहला लेख है, जिसमें ब्रिकगुरु टीम फ्लाई ऐश रेगुलेशन में प्रस्तावित संशोधनों के विभिन्न प्रावधानों के संभावित प्रभावों और व्यवहार्यता का विश्लेषण करेगी।  इस लेख में हम देश में ईंटों की मांग को पूरा करने के लिए फ्लाई ऐश की उपलब्धता के दृष्टिकोण से प्रस्तावित संशोधन की जांच करेंगे।

0

विज्ञापन

विज्ञापन

अन्य लेख के लिए यहाँ क्लिक करें फ्लाई ऐश रेगुलेशन, 1999 में प्रस्तावित संशोधनों के संभावित प्रभाव भाग 1: क्या देश में ईंट की मांग को पूरा करने के लिए उपलब्ध फ्लाई ऐश की मात्रा पर्याप्त है? मुखपृष्ठ के लिए यहाँ क्लिक करें Click here to go to User Home