ब्लॉग

ज़िगज़ैग भट्ठे के निर्माण और संचालन के संबंध में प्रचलित भ्रातियां

सत्येंद्र राणा | मंगलवार 11 सितम्बर 2018

ग्रीनटेक नॉलेज सॉल्यूशंस प्राइवेट लिमिटेड (जी.के.एस.पी.एल.) और बिहार राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (बी.एस.पी.सी.बी.) ने 2018-19 के दौरान बिहार के विभिन्न जिलों में “ज़िगज़ैग भट्ठे का डिजाइन, निर्माण और संचालन” पर संयुक्त रूप से कई कार्यशालाओं का आयोजन किया। कार्यशालाओं के संचालन के दौरान हमने यह पाया कि एक ज़िगज़ैग भट्ठे के निर्माण और संचालन के संबंध में भट्ठा मालिकों और राजमिस्त्रियों के बीच में कई मौलिक भ्रांतियाँ प्रचलित हैं। यहां हमने बहुत ही स्पष्ट तरीके से संक्षिप्त व्याख्याओं के साथ व्यापक रूप से फैली हुई गलत धारणाओं को दूर करने की कोशिश की है।

 

  1. ज़िगज़ैग भट्ठा” ईंट उत्पादन के लिए भट्ठे का एक बिल्कुल नया डिजाइन है।

यह हर किसी के दिमाग में स्पष्ट होना चाहिए कि “ज़िगज़ैग भट्ठा” ईंट भट्ठे का एक बिल्कुल नया डिजाइन नहीं है तथा इसमें और परंपरागत “अंडाकार” बुल्स ट्रेंच ईंट भट्ठे में कई मूलभूत समानताएँ हैं। ज़िगज़ैग भट्ठा पारंपरिक भट्ठे का सिर्फ एक “बेहतर संस्करण” है। अंडाकार बुल्स ट्रेंच भट्ठे और ज़िगज़ैग भट्ठे के बीच में मुख्य अंतर ईंटों की भराई के तरीके तथा परिणामस्वरूप, ईंधन की झोंकाई (फायरिंग) के विधि में है। ज़िगज़ैग भट्ठे में कच्ची-ईंटों की भराई के उन्नत डिज़ाइन को लागू करने से हवा अथवा गर्म गैसों को ईंटों को गर्म करने के लिए अधिक समय मिलता है, जिससे परंपरागत भट्ठे की तुलना में इसका प्रदर्शन बेहतर होता है।

 

  1. क्या पारंपरिक भट्ठे से ज़िगज़ैग भट्ठे में बदलाव करते समय भट्ठे के आकार को अंडाकार से आयताकार में बदलना आवश्यक है?

हाँ, यह सलाह दी जाती है कि एक ज़िगज़ैग भट्ठे को आयताकार रखना चाहिए ताकि पारंपरिक भट्ठे की तुलना में बेहतर प्रदर्शन के लिए आवश्यक कच्ची-ईंटों की भराई के उन्नत डिज़ाइन को सही रूप से अपनाया जा सके।

 

  1. ज़िगज़ैग भट्ठा” और “हाई-ड्राफ्ट भट्ठा” भट्ठे के दो अलग-अलग डिजाइन हैं।

ज़िगज़ैग भट्ठा एक ऐसे भट्ठे को कहते हैं जिसमें हवा अथवा गर्म गैसें ट्रेंच की लंबाई के समानांतर अधिकतर एक सीधी रेखा में नहीं (पारंपरिक अंडाकार भट्ठे के प्रतिकूल) बहती हैं। ज़िगज़ैग भट्ठे दो प्रकार के हो सकते हैं:

  1. नेचुरल-ड्राफ्ट ज़िगज़ैग भट्ठा: इस प्रकार के ज़िगज़ैग भट्ठे में ड्राफ्ट को चिमनी की सहायता से भट्ठे के अन्दर प्राकृतिक रूप से बनाया जाता है।
  2. इंड्यूज्ड-ड्राफ्ट या हाई-ड्राफ्ट ज़िगज़ैग भट्ठा: इस प्रकार के ज़िगज़ैग भट्ठे में ड्राफ्ट को पंखे तथा चिमनी की सहायता से भट्ठे के अन्दर कृत्रिम रूप से बनाया गया है।

 

  1. नेचुरल-ड्राफ्ट और इंड्यूज्ड-ड्राफ्ट या हाई-ड्राफ्ट ज़िगज़ैग भट्ठों के लिए विभिन्न प्रकार की चिमनी होती हैं।

नेचुरल-ड्राफ्ट और हाई-ड्राफ्ट ज़िगज़ैग भट्ठे, दोनों के लिए एक समान प्रकार की चिमनी होती है। दोनों प्रकारों के ज़िगज़ैग भट्ठों में चिमनी का आकार गोलाकार या वर्गाकार हो सकता है। दोनों ही प्रकार के ज़िगज़ैग भट्ठों में उनकी दी गयी दैनिक उत्पादन क्षमता तथा कच्ची-ईंटों की भराई के डिज़ाइन के अनुसार चिमनी के व्यास तथा ऊंचाई में परिवर्तन आता है।

 

  1. एक ज़िगज़ैग भट्ठे मेंज़िगज़ैग चिमनी” नामक एक नये प्रकार की चिमनी का उपयोग आवश्यक है।

यह कहना बिल्कुल गलत है कि किसी भी ज़िगज़ैग भट्ठे को चलाने के लिए “ज़िगज़ैग चिमनी” नामक एक नये प्रकार की चिमनी की आवश्यकता है। यदि किसी दी गयी दैनिक उत्पादन क्षमता और कच्ची-ईंटों की भराई के डिज़ाइन के लिए आवश्यक आंतरिक व्यास, ऊंचाई और गुणवत्ता मौजूदा चिमनी में मिल जाती है, तो उसी चिमनी का उपयोग ज़िगज़ैग भट्ठे के लिए किया जा सकता है।

 

  1. ज़िग-ज़ैग भट्ठे को संचालित करने के लिए केवल वही चिमनी काम करेगी जिसका आकार वर्गाकार होगा।

किसी भी ज़िगज़ैग भट्ठे को संचालित करने के लिए चिमनी के आकार का वर्गाकार होना आवश्यक नहीं है। दोनों प्रकार के ज़िगज़ैग भट्ठों  के लिए चिमनी का आकार गोलाकार या वर्गाकार हो सकता है।

 

  1. राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड केवल उन्हीं ज़िगज़ैग भट्ठों को चलाने की अनुमति देगा जिनका आकार वर्गाकार हो।

राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से ऐसी कोई मांग नहीं है कि ज़िगज़ैग भट्ठों में अनिवार्य रूप से वर्गाकार आकार की चिमनी स्थापित करनी है। दोनों प्रकार के ज़िगज़ैग भट्ठों को गोलाकार अथवा वर्गाकार आकार की चिमनी से संचालित करने की अनुमति है।

 

  1. राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से सख्त़ आदेश हैं कि नई या पुनर्निर्मित चिमनी की ऊंचाई मौजूदा चिमनी से अधिक होनी चाहिए।

केंद्रीय या राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड जिगज़ैग भट्ठे के प्रकार के अनुसार केवल चिमनी की “न्यूनतम ऊंचाई” निर्धारित  करता है। यदि मौजूदा, नई या पुनर्निर्मित चिमनी एक ज़िगज़ैग भट्ठे के प्रकार के अनुसार आवश्यक न्यूनतम ऊंचाई के मानदंड को पूरा करती है तो प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की ओर से इसको संचालित करने की अनुमति है। 16 मार्च, 2018 को “पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय” द्वारा प्रकाशित अधिसूचना के अनुरूप ज़िगज़ैग भट्ठे के लिए अनिवार्य न्यूनतम ऊंचाई निम्नानुसार हैं:

  1. एक इंड्यूज्ड-ड्राफ्ट या हाई-ड्राफ्ट भट्ठे में केवल “सिंगल ज़िगज़ैग टाइप” ईंटों की भराई ही काम करेगी।

चूंकि एक इंड्यूज्ड-ड्राफ्ट या हाई-ड्राफ्ट भट्ठे में आवश्यक ड्राफ्ट पंखे की सहायता से कृत्रिम रूप से बनाया जाता है, इसलिए किसी भी प्रकार के ईंटों की भराई जैसे सिंगल, डबल या ट्रिपल ज़िगज़ैग का भट्ठे में संतोषजनक रूप से उपयोग  किया जा सकता है।

 

  1. इंड्यूज्ड-ड्राफ्ट या हाई-ड्राफ्ट ज़िगज़ैग भट्ठे में पंखे का उपयोग करते समय चिमनी की ऊंचाई बढ़ाना अनिवार्य है।

यदि चिमनी केंद्रीय या राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा निर्धारित “न्यूनतम ऊंचाई मानदंड” को पूरा कर रही है तथा चिमनी की आंतरिक चौड़ाई और ऊंचाई आवश्यक दैनिक उत्पादन क्षमता के अनुसार डिज़ाइन मानदंडों को पूरा कर रही है, तो चिमनी की ऊंचाई बढ़ाना अनिवार्य नहीं है।

 

  1. ज़िगज़ैग भट्ठे में ईंटों की भराई का डिज़ाइन परंपरागत अंडाकार बुल्स ट्रेंच भट्टों में उपयोग में लाये जाने वाले डिज़ाइन से बिल्कुल अलग होता है।

ज़िगज़ैग भट्ठे में ईंटों की भराई का डिज़ाइन परंपरागत अंडाकार बुल्स ट्रेंच भट्टों में नियोजित भराई का बहुत अलग रूप नहीं है। ईंटों की भराई का मूलभूत स्वरुप, जिसमे ट्रेंच की चौड़ाई के समानांतर कच्ची ईंटों को “पंक्तियों” में सजाया जाता है तथा  प्रत्येक पंक्ति में ईंटों के कई कॉलम (पाये) होते हैं, ज़िगज़ैग  एवं परंपरागत  भट्ठे में समान होता है। ईंटों और गर्म गैसों / हवा के बीच गर्मी के आदान-प्रदान के लिए आवश्यक समय को बढ़ाने के लिए, ज़िगज़ैग भट्ठों में कुछ पंक्तियाँ भिन्न प्रकार से (दीवार की तरह) बनाई जाती हैं, ताकि हवा अथवा गर्म गैसें केवल दीवारों में छोड़े गए कुछ रिक्त स्थानों के माध्यम से ही बह सके। (अधिक जानकारी के लिए देखें, नॉलेज ब्रीफ- ए). एक नेचुरल-ड्राफ्ट ज़िगज़ैग भट्ठे में ईंटों की भराई कैसे की जाती है?, बी). एक इंड्यूज्ड-ड्राफ्ट ज़िगज़ैग भट्ठे में ईंटों की भराई कैसे की जाती है?)।

 

  1. क्या उत्सर्जन मापन के लिए चिमनी पर प्लेटफॉर्म और सीढ़ी बनाना अनिवार्य है?

हां, भट्ठे के उत्सर्जन मापन को सुविधाजनक बनाने के लिए केंद्रीय / राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा निर्धारित मानदंडों के अनुसार चिमनी पर प्लेटफॉर्म और सीढ़ी बनाना अनिवार्य है। (अधिक जानकारी के लिए देखें, नॉलेज ब्रीफ – ज़िगज़ैग भट्ठे के लिए ईंटों की चिनाई द्वारा बनी चिमनी के निर्माण का अच्छा तरीका क्या है?)।

सत्येंद्र राणा

लेखक: कंसलटेंट, ग्रीनटेक नॉलेज सलूशन्स प्राइवेट लिमिटेड

विज्ञापन

विज्ञापन

अन्य ब्लॉग के लिए यहाँ क्लिक करें ज़िगज़ैग भट्ठे के निर्माण और संचालन के संबंध में प्रचलित भ्रातियां मुखपृष्ठ के लिए यहाँ क्लिक करें Click here to go to User Home